प्रमुख दिवसभारतीय संस्कृति

ईद उल फितर त्योहार में क्या होता है?

भारत मे सभी धर्मो के लोग मिल- जुल कर रहते है। यहाँ पर हर धर्म के त्योहार बहुत धूमधाम से मिल कर मनाये जाते है । जिस तरह होली और दिवाली हिंदुओं का प्रसिद्ध त्योहार है, उसी तरह ईद उल फितर त्योहार मुसलमानों की खुसियों का त्योहार है।

इस ईद उल फ़ितर का त्योहार हर मुसलमान के लिए महत्वपूर्ण है, क्योंकि ईद पवित्र रमजान में एक महीने तक कठिन व्रत उपवास और नियम धर्म से साधना प्रक्रिया चलती रहती है, उसका समापन इसी दिन होता है। रमजान का महिना 29 या 30 दिनों का होता है।

रमजान के दिनों मे पर्व करने वाले बेहद कठिन उपवास करते है।रमजान के महीने मे व्रत उपवास के नियम हर व्यक्ति को यह संदेश देते है की सभी को जीवन मे मुश्किलों का सामना करते हुए ईमानदारी से अपना लक्ष्य को पाना चाहिए।

यदि व्यक्ति हिम्मत और हौसले से मानवीयता के साथ अपने कार्य करता है तो उसे सफलता जरूर मिलती है। ईद उल फितर का त्योहार यह संदेश देता है कि व्यक्ति को सादा जीवन और उच्च विचार रखने चाहिए।

ईद उल फितर खुशियों का त्योहार

उस दिन जगह- जगह मेले लगते है। ईदगाह में नमाज अदा की जाती है। बच्चे नये – नये कपड़े पहनते है और अपने माँ पिता के साथ तरह तरह के खिलौने खरीदते है। विभिन्न प्रकार के भोजन खाते है। ईद – उल – फितर मे खिलौने और भोजन का विशेष प्रचलन है। इस दौरान चाँद का दर्शन करना बेहद शुभ मना जाता है। प्रत्येक धर्म मे ईश्वर और अल्लाह का यही कहना है कि संपन्न व्यक्ति गरीब, बीमार और जरूरतमंद व्यक्तियों की मदद करें और मानवीयता को सुंदर बनाएं। मनुष्य की दुनियाँ तभी सुंदर बनती है, जब उसमे सभी धर्मो के लोग छोटे बड़े के भावना से मुक्त हो कर सहज मन से एक समान भाव के साथ मिल- जुल कर रहते है।

ईद उल फितर के शुभअवसर पर दान करने का रिवाज भी है। दान वह रकम होतीं है, जो अमीरों के द्वारा गरीब लोगों को दी जाती है। इस तरह गरीबों की भी ईद पर्व हो जाती है। ईद उल फ़ितर के मौके पर आप बच्चे भी इस त्योहार को प्रेम व उत्साह के साथ मनाते है और एक दूसरे से गले मिलते है।

Top Gk Question in Hindi

Tags
Show More

One Comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
Close
Close